Wednesday, February 21, 2024
No menu items!
Homeउत्तराखंडराज्यस्तरीय खेल महाकुंभ का आगाज! नेशनल रिकॉर्ड तोड़ने वाले खिलाड़ियों को मिलेगा...

राज्यस्तरीय खेल महाकुंभ का आगाज! नेशनल रिकॉर्ड तोड़ने वाले खिलाड़ियों को मिलेगा एक लाख, सीएम धामी ने की घोषणा

उत्तराखंड में राज्य स्तरीय खेल महाकुंभ की शुरुआत हो चुकी है। प्रतियोगिता का शुभारंभ मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने किया। इसी बीच उन्होंने आगामी नेशनल गेम्स को लेकर कुछ महत्वपूर्ण घोषणाएं भी की हैं।

देहरादून रायपुर स्पोर्ट्स कॉलेज से राज्य स्तरीय खेल महाकुंभ की शुरुआत हो गई है। इस मौके पर 800 मीटर रेस आयोजित की गई. कार्यक्रम में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और खेल मंत्री रेखा आर्य मुख्य रूप से मौजूद रहीं। इसी बीच दोनों अतिथियों ने प्रथम, द्वितीय और तृतीय स्थान लाने वाले धावकों को मेडल और प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया। इसके अलावा सीएम धामी ने नेशनल रिकॉर्ड तोड़ने वाले खिलाड़ियों को 1 लाख रुपए और राज्यस्तरीय खेल महाकुंभ में प्रथम,द्वितीय और तृतीय स्थान पर आने वाले खिलाड़ियों को स्पोर्ट्स किट देने का ऐलान किया। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि अगले साल उत्तराखंड में 38 वें राष्ट्रीय खेलों का आयोजन होना है। जिसमें उत्तराखंड को मिली मेजबानी एक ऐतिहासिक मेजबानी होने जा रही है उन्होंने बताया कि जिस तरह से जो भी जिम्मेदारी उत्तराखंड को दी जाती है। उत्तराखंड उसे अच्छे से निभाता है। ऐसे में उन्हें उम्मीद है कि नेशनल गेम्स की जिम्मेदारी भी उत्तराखंड अपनी पूरी गंभीरता के साथ निभाएगा। खेल मंत्री रेखा आर्य ने कहा कि उत्तराखंड सरकार द्वारा प्रदेश में खिलाड़ियों को तराशाने और मजबूत करने के लिए सरकार द्वारा मेडल होल्डर खिलाड़ियों को आउट ऑफ टर्म जॉब और खेल विकास निधि से जोड़ा जा रहा है। साथ ही मुख्यमंत्री खिलाड़ी उदीयमान योजना के अलावा कई ऐसे महत्वपूर्ण कदम उठाए गए हैं जो कि उत्तराखंड में खेल और खिलाड़ियों की दिशा को एक मजबूती दे रहे हैं। बता दें कि इससे पहले न्याय पंचायत, ब्लॉक और जनपद स्तर पर खेल महाकुंभ प्रतियोगिताएं संपन्न कराई गई थी। खेल महाकुंभ 2023 में खेल विभाग द्वारा 5 लाख खिलाड़ियों के प्रतिभाग करने का लक्ष्य रखा गया है। साल 2017 से शुरू हुए खेल महाकुंभ के फॉर्मेट में हर साल प्रदेश भर के न्याय पंचायत स्तर से लेकर ब्लॉक स्तर और फिर जनपद स्तर और आखिर में राज्य स्तरीय खेल प्रतियोगिताओं में खिलाड़ियों को तराशा जाता है। हर साल खेल महाकुंभ में प्रतिभाग करने वाले खिलाड़ियों की संख्या बढ़ती जा रही है।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -

ताजा खबरें