Thursday, June 13, 2024
No menu items!
Homeअपराधकेदारनाथ यात्रा में बारिश डाल रही खलल! मौसम खराब होने के कारण...

केदारनाथ यात्रा में बारिश डाल रही खलल! मौसम खराब होने के कारण घंटो तक सोनप्रयाग में रोकी यात्रा

उत्तराखंड में मॉनसून का असर केदारनाथ धाम की यात्रा पर पड़ रहा है। मौसम खराब होने के कारण घंटो तक सोनप्रयाग में यात्रा रोकी गई। हालांकि मौसम साफ होने पर सीमित संख्या में यात्री केदारनाथ भेजे जा रहे हैं। केदारनाथ धाम में कल से रुक-रुक कर बारिश जारी है।

उत्तराखंड के पहाड़ों में लगातार बारिश का दौर लगातर जारी है। बारिश का सबसे ज्यादा असर केदारनाथ धाम की यात्रा पर पड़ रहा है। आज सुबह भी बारिश के कारण केदारनाथ यात्रा रोकी गई थी। यात्रियों को सोनप्रयाग और गौरीकुंड में बैरियर लगाकर धाम जाने नहीं दिया गया। हालांकि मौसम खुलते ही यात्रा खोल दी गई। जिसके बाद श्रद्धालु केदारनाथ के लिए रवाना हुए। बता दें कि पहाड़ों में मॉनसूनी बारिश आफत बनकर बरस रही है। लगातार बारिश होने के कारण आज सुबह 8 बजे केदारनाथ धाम की यात्रा रोकी गई। हजारों यात्रियों को सोनप्रयाग और गौरीकुंड में बैरियर लगाकर रोका गया। हालांकि दोपहर के समय कुछ देर के लिए मौसम खुलने पर यात्रियों को केदारनाथ धाम भेजा गया। वहीं दूसरी और केदारनाथ धाम में भी बारिश जारी है। भारी बारिश में भी भक्त बाबा केदार के दर्शनों के लिए लाइन में लगे हैं। केदारपुरी में कल से बारिश हो रही है। प्रशासन की ओर से यात्रियों से मौसम साफ होने के बाद ही यात्रा करने की अपील की जा रही है। रुद्रप्रयाग डीएम मयूर दीक्षित का कहना है कि केदारनाथ में मौसम खराब है। लगातार बिगड़ रहे मौसम के कारण दिक्कतें बढ़ रही है। ऐसे में यात्रियों को सुरक्षित यात्रा करवाई जा रही है। गौर हो कि उत्तराखंड में मौसम विभाग ने बारिश का अलर्ट जारी किया है। आज मौसम विभाग ने पर्वतीय जिलों में कहीं-कहीं गर्जन के साथ आकाशीय बिजली गिरने की संभावना जताई है। खासकर टिहरी, पौड़ी, नैनीताल, चंपावत, बागेश्वर और पिथौरागढ़ में भारी बारिश हो सकती है। जिसे लेकर येलो अलर्ट जारी किया है। कल भी प्रदेश के पर्वतीय जिलों में कहीं-कहीं भारी बारिश हो सकती है। उत्तराखंड में चारधाम यात्रा चल रही है लेकिन बारिश की वजह से यात्रा की रफ्तार धीमी हो गई है। अभी तक चारधाम में श्रद्धालुओं की संख्या 32 लाख 76 हजार 944 पार हो चुकी है। जिसके तहत गंगोत्री धाम में 570,971 यात्री, यमुनोत्री धाम में 4,94862 यात्री, बदरीनाथ धाम में 9,99,640 यात्री, केदारनाथ धाम में 10,90,000 यात्री पहुंचे चुके हैं. इसके अलावा हेमकुंड साबिह में 1,12,645 यात्री मत्था टेक चुके हैं। वहीं एडीजी लॉ एंड ऑर्डर वी मुरुगेशन ने बताया कि 29 जून तक बदरीनाथ, केदारनाथ, यमुनोत्री, गंगोत्री और हेमकुंड साहिब में दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं की संख्या 32 लाख पार हो चुकी है। बारिश की वजह से मार्ग बाधित हो रहे हैं, लेकिन पुलिस बल पूरी तत्परता से बंद मार्गों को खुलवा रहा है। श्रद्धालुओं की सुरक्षा के मध्यनजर एसडीआरएफ (SDRF) और एनडीआरएफ (NDRF) समेत यात्रा ड्यूटी में तैनात पुलिस बल को अलर्ट मोड पर रखा गया है।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -

ताजा खबरें