Tuesday, June 25, 2024
No menu items!
Homeउत्तराखंडरामनगर में हुआ सीएम धामी का ग्रैंड वेलकम

रामनगर में हुआ सीएम धामी का ग्रैंड वेलकम

उत्तराखंड ऐतिहासिक G20 समिट का गवाह बन रहा है। देश-विदेश के डेलीगेट्स देवभूमि की संस्कृति से रूबरू हो रहे हैं। इसी क्रम रामनगर के विश्व प्रसिद्ध गर्जिया मंदिर पहुंचे सीएम धामी ने कहा उत्तराखंड के लिए सौभाग्य की बात है कि G20 से जुड़ा कार्यक्रम रामनगर में हो रहा है। सीएम पुष्कर सिंह धामी ने आगे कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लीडरशिप में भारत G20 समिट की अध्यक्षता कर रहा है, जो देश के लिए गौरव की बात है। उन्होंने कहा इसको लेकर अनेक कार्यक्रम पूरे भारत में आयोजित किए जा रहे हैं। इसी क्रम में उत्तराखंड में भी वर्किंग कमेटी की तीन बैठकें आयोजित हो रही है। प्रदेशवासियों के लिए यह गर्व की बात है कि पहली बैठक उत्तराखंड के पर्यटन नगरी रामनगर में हो रही है। रामनगर में राउंड टेबल बैठक की चर्चा पूरे विश्व में होगी। सीएम धामी ने पत्रकारों से बातचीत में कहा इस बैठक से पूरी दुनिया के लोग देवभूमि उत्तराखंड और पर्यटन नगरी रामनगर को जान पाएंगे। मुख्यमंत्री धामी ने कहा पूरे विश्व से आने वाले लोग जहां एक ओर उत्तराखंड की संस्कृति से रूबरू होंगे। वहीं हमारे प्रदेश का नाम भी विश्व पटल पर रोशन होगा। सीएम धामी ने कहा इस बैठक के जरिए दुनिया भर के लोग हमारी संस्कृति और परंपरा को देख सकेंगे। दरअसल सीएम पुष्कर सिंह धामी G20 बैठक की समीक्षा के लिए रामनगर पहुंचे हैं और तैयारियों का जायजा ले रहे हैं।

बता दें कि रामनगर में जिन-जिन क्षेत्रों से डेलीगेट्स गुजर रहे हैं उन क्षेत्रों का सौंदर्यीकरण किया जा रहा है। पूरे शहर को कुमाऊंनी संस्कृति से सजाया गया है और रामनगर पहुंचने पर मेहमानों का भव्य स्वागत किया गया है। वहीं मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी हल्द्वानी भी पहुंचे। जहां सर्किट हाउस में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने उनका जोरदार स्वागत किया। इस दौरान पार्टी पदाधिकारियों से सीएम ने आगामी लोकसभा और निकाय चुनाव के मद्देनजर कार्यकर्ताओं से अभी से जुट जाने का आह्वान किया। धामी ने कहा G 20 समिट को लेकर उत्तराखंड पूरी तरह तैयार है। प्रधानमंत्री मोदी ने उत्तराखंड को एक नहीं तीन-तीन बैठक का आयोजन करने का मौका दिया है। इस दौरान मुख्यमंत्री धामी ने कहा इस बार चारधाम यात्रा ऐतिहासिक होगा। बड़ी संख्या में यात्रियों के आने की उम्मीद है। कोई भी श्रद्धालु बाबा केदार के दरबार से बिना माथा टेका नहीं लौटेगा. इस बार सरकार ने उचित व्यवस्था की है। जिससे श्रद्धालुओं को किसी तरह की कोई परेशानी नहीं होगी। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा चारधाम यात्रा को लेकर सरकार पूरी तरह से तैयारियों में जुट गई है. सरकार ने स्थानीय लोगों के पंजीकरण की बाध्यता खत्म कर दी है। इसके अलावा जिन लोगों की भी होटल या गेस्ट हाउस में बुकिंग होगी, उनका भी तत्काल वहीं पर रजिस्ट्रेशन कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा स्थानीय लोगों को रजिस्ट्रेशन के लिए इसलिए छोड़ दिए गए हैं कि स्थानीय लोग अपने देव स्थलों की पूजा अर्चना कर सकें और देवभूमि में जो भी दर्शन करने के लिए आएगा उसका स्वागत है।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -

ताजा खबरें