Wednesday, February 21, 2024
No menu items!
Homeअपराधचलती कार में गैंगरेप के मामले में आया नया मोड़! मेडिकल रिपोर्ट...

चलती कार में गैंगरेप के मामले में आया नया मोड़! मेडिकल रिपोर्ट में दुष्कर्म की पुष्टि नहीं,पुलिस ने किया चौंकाने वाला खुलासा

हल्द्वानी में कार में हुए सामूहिक दुष्कर्म मामले में अब नया मोड़ आ गया है। एसएसपी प्रहलाद नारायण मीणा ने बताया कि मेडिकल रिपोर्ट में दुष्कर्म की पुष्टि नहीं हुई है। पुलिस ने मुकदमे की धाराएं बदल दी हैं। अब पुलिस ने अपहरण और छेड़छाड़ की धाराओं में जांच शुरू कर दी है। युवती ने मजिस्ट्रेट के सामने भी यही बयान दिए हैं।

सोमवार को पुलिस बहुउद्देश्यीय भवन में एसएसपी ने बताया कि रविवार को एक युवती थाने पहुंची थी। उसने आरोप लगाया था कि शनिवार शाम को वह हीरानगर तिराहे पर खड़ी थी। इस दौरान सफेद रंग की कार उसके पास आकर रुकी। कुछ युवकों ने उसे खींचकर कार में बैठा लिया और उसका अपहरण हुआ। कार को अंदर से लाॅक कर दिया। उसे शराब पिलाई। इसके बाद कार शहर में तीन घंटे दौड़ती रही। इस बीच उसके साथ कार में सामूहिक दुष्कर्म किया गया। एसएसपी के अनुसार, यह मामला युवती से जुड़ा था, इसलिए बिना कोई देरी किए दुष्कर्म व अपहरण की धारा में प्राथमिकी दर्ज की। एसपी सिटी हरबंस सिंह के नेतृत्व में कोतवाली, मुखानी, काठगोदाम और बनभूलपुरा थानाध्यक्ष की टीम बनाकर उन्हें इसकी जांच सौंपी गई। युवती का मेडिकल कराया गया जिसमें दुष्कर्म की पुष्टि नहीं हुई। इसके बाद सीसीटीवी की जांच की गई। साथ ही मोबाइल की सीडीआर निकाली गई। मामले में दुष्कर्म की धारा को छेड़छाड़ में बदल दिया गया है। छेड़छाड़ और अपहरण की धारा में प्राथमिकी कर मामले की जांच की जा रही है।

एसएसपी प्रहलाद नारायण मीणा ने बताया कि युवती की मां और भाई एक शादी समारोह में गए थे। युवती को भी वहीं जाना था। जब उसने अपने भाई और मां को फोन किया तो उसका फोन उठा नहीं। जब वह देर रात तक घर नहीं लौटी तो उसने माता-पिता की डांट के डर से दुष्कर्म की बात कही। पुलिस ने गौजाजाली निवासी ऋषि सागर मनोज सागर निवासी दुर्गा कॉलोनी गौजाजाली,अक्षित बसी निवासी गौजाजाली और धम्मी उर्फ धर्म कीर्ति निवासी देवलचौड़ बंदोबस्ती के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस ने मनोज सागर व ऋषि को शनिवार की रात ही गिरफ्तार कर लिया था। रविवार को अक्षित व धम्मी को भी पकड़ लिया गया। कार सीज कर दी है। आरोपियों को कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेज दिया है।

युवती की ओर से दी गई तहरीर और मजिस्ट्रेट को दिए गए बयान में युवती ने बताया कि वह चार युवकों को नहीं जानती है। उसने कहा कि वह शराब पीकर एक-दूसरे का नाम ले रहे थे। इस कारण उसने अपनी तहरीर में चारों के नाम लिखे हैं। पुलिस के अनुसार, टाटा पंच कार मनोज सागर के नाम पर है। उसने दो महीने पहले ही नई कार खरीदी थी। अभी तक कार का नंबर भी नहीं आया है। पुलिस को सीसीटीवी से कई अहम सुराग हाथ लगे हैं। पुलिस सूत्रों के अनुसार हीरानगर तिराहे के पास युवती खुद कार में बैठती दिखाई दे रही है। युवती कार में आगे की सीट पर बैठी। मुखानी के पास लगे पुलिस के सीसीटीवी में भी यही दिखाई दिया। कार कुसुमखेड़ा वाइन शॉप के पास रूकती है। यहां से चालक उतरकर शराब खरीदता दिख रहा है। बताया जा रहा है कि जब मुखानी में कार युवती को छोड़ने के लिए रुकती है तो यहां पर युवक उसे उतारकर आगे जाकर रूककर ये देखते हैं कि युवती ने किसे अपने को लेने के लिए बुलाया है। जब वह युवक उसे ले जाता है तो तब वे लोग वहां से जाते हैं। एसएसपी प्रहलाद नारायण मीणा ने बताया कि शनिवार रात पुलिस मुखानी थाना क्षेत्र की एक चौकी में आती है और छेड़छाड़ की शिकायत करती है। जब उससे तहरीर मांगी गई तो युवती वहां से चली गई थी।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -

ताजा खबरें