Monday, May 20, 2024
No menu items!
Homeउत्तराखंडउत्तराखंड गौरवशाली पल! एसडीआरएफ के जाबांज जवान राजेंद्र नाथ ने अफ्रीका...

उत्तराखंड गौरवशाली पल! एसडीआरएफ के जाबांज जवान राजेंद्र नाथ ने अफ्रीका महाद्वीप की सबसे ऊँची चोटी माउंट किलीमंजारो को दो बार समिट कर रचा कीर्तिमान

देहरादून। एसडीआरएफ उत्तराखंड पुलिस के जाबांज जवान राजेंद्र नाथ ने अफ्रीका महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी माउंट किलिमंजारो (5895मीटर) को फतह कर चोटी पर तिरंगा झंडा और उत्तराखंड पुलिस का झंडा फहराया। राजेन्द्र ने तीन दिन के अंदर दो बार माउंट किलीमंजारो को फतह कर सफल अरोहण का रिकॉर्ड बनाया है। राजेंद्र नाथ को 21 फरवरी को वाहिनी मुख्यालय जौलीग्रांट से एसडीआरएफ सेनानायक मणिकांत मिश्रा ने रवाना किया था।

जहां मौसम पर्वतारोहण के अनुकूल न होने और साथ ही -10 डिग्री तापमान, ठंडी हवा की रफ्तार और लगातार ही रही बर्फबारी के बावजूद भी एसडीआरएफ जवान राजेंद्र नाथ ने 24 फरवरी को अफ्रीका महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी को फतह कर तिरंगा व उत्तराखंड पुलिस का झंडा फहराया।
इसके बाद 26 फरवरी की सुबह राजेंद्र नाथ अपनी टीम के साथ दोबारा डबल समिट के लिए रवाना हुए जहां पर उन्होंने एक बार फिर से माउंट किलिमंजारो पर तिरंगे के साथ-साथ SDRF उत्तराखंड पुलिस का ध्वज फहराकर उत्तराखंड पुलिस का नाम गौरवान्वित किया और एक नया कीर्तिमान रचा।
इसके साथ ही राजेंद्र नाथ तीन दिन के अंदर माउंट किलीमंजारो को समिट कर इसे डबल समिट करने वाले राज्य के पहले पुलिसकर्मी बन गए हैं।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -

ताजा खबरें