Thursday, June 13, 2024
No menu items!
Homeउत्तराखंडहल्द्वानी– गोल्ज्यू मंदिर घोड़ाखाल, नन्दा देवी, गर्जिया व हनुमान मन्दिर में...

हल्द्वानी– गोल्ज्यू मंदिर घोड़ाखाल, नन्दा देवी, गर्जिया व हनुमान मन्दिर में होगा रोपवे का निर्माण– कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत ने दिए प्रस्ताव बनाने के निर्देश

हल्द्वानी– राज्य सरकार की बहुप्रतीक्षित मानसखण्ड कॉरिडोर, कुमाऊॅ को गढ़वाल से संयोजित करने वाले मार्गाे, रोपवे निर्माण को लेकर आयुक्त कुमाऊॅ मण्डल दीपक रावत ने कुमाऊॅ के सभी जिलों के जिलाधिकारियों के साथ वीडियों कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से विस्तार से चर्चा की।
वीडियों कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से जनपद नैनीताल के रामनगर- लालढांग (कंडी मार्ग), काशीपुर-रामनगर-मोहान-बुआखाल मार्ग, रामनगर-बाइपास मार्ग, रामनगर से शंकरपुर (डबल लेन मार्ग), ज्योलीकोट-रानीखेत- पण्डवाखाल-गैरसैण-कर्णप्रयाग मार्ग को डबल लैन, खैरना-अल्मोड़ा,भिक्यासैण-देघाट-बूंगीधार-बछुवाखाल-चौखुटिया मार्ग सिंगल लेन, कैचीधाम बाईपास मार्ग के अलावा तत्ला रामगढ-क्वारब सिंगल रोड को डबल लैन के अलावा रामनगर -गर्जिया -बेतालघाट मार्ग को ठीक करने के निर्देश लोनिवि को दिये,इसके अलावा गोल्ज्यू मंदिर घोड़ाखाल, नन्दा देवी, गर्जिया, हनुमान मन्दिर आदि स्थानों पर रोपवे का निर्माण किये जाने हेतु प्रस्ताव बनाये जाने के निर्देश दिये। अल्मोड़ा की समीक्षा के दौरान, जागेश्वर, कटारमल, कपिलेश्वर, झांकर सेम, नन्दा देवी, झूला देवी, सोनी बिन्सर माहदेव आदि स्थानों के सम्पर्क मार्ग के साथ ही रोपवे के प्रस्ताव तैयार करने पर बल दिया। जनपद पिथौरागढ़ की गंगोलीहाट, मोष्टामानू,थलकेदार को धार्मिक पर्यटन स्थल से जोडे जाने हेतु सड़क निर्माण के अलावा धार्मिक गतिविधियों में सम्मलित करने तथा मुनस्यारी-खलियाटॉप में रोपवे निर्माण किये जाने का प्रस्ताव बनाये जाने को कहा। बागेश्वर जनपद के अर्न्तगत बाजनाथ, बैजनाथ, कोटभ्रामरी, नन्दा देवी, कोटगाडी धार्मिक स्थलों के सम्पर्क मार्गो को सही करने के निर्देश दिये गये।इसी प्रकार उधम सिंह नगर के द्रोणसाागर, चैती, कटारिया मन्दिर व गुरूद्वारा नानकमत्ता को धार्मिक स्थलों को जोडे जाने का प्रस्ताव बनाये जाने को कहा। जनपद चम्पावत के अर्न्तगत बाराही धाम देवीधूरा, गुरूद्वारा, रीठासाहीब, पातालरूद्रेश्वर, क्रान्तेश्वर, बालेश्वर, नागनाथ, गोल्ज्यू मन्दिर, गुरू गोरखनाथ मन्दिर मंच, पूर्णागिरीधाम तथा मानेश्वर मन्दिरों को धार्मिक गतिविधियों से जोडे जाने के अलावा पूर्णागिरी- भैरों मन्दिर रोपवे को ठुलीगाड तक बढाये जाने के प्रस्ताव तैयार किये जाने को कहा। उन्होंने ढोलीगॉव से रीठासाहीब मार्ग निर्माण के लिए लोनिवि को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। उन्होंने सभी पर्यटन विकास अधिकारियों को मानस खण्ड का अध्ययन करते हुये अपने-अपने क्षेत्रों के धार्मिक स्थलों को मानस खण्ड कॉरिडोर से जोडे जाने का प्रस्ताव तैयार करने पर बल दिया। वीडियों कॉन्फ्रेसिंग में कुमाऊॅ मण्डल के सभी जिलाधिकारी, पर्यटन विकास अधिकारी तथा लोनिवि के अधिशासी अभियन्ता उपस्थित थे।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -

ताजा खबरें