Sunday, April 21, 2024
No menu items!
Homeअपराधमसूरी में दिल्ली के पर्यटक से लूट और जानलेवा हमला! गंभीर हालत...

मसूरी में दिल्ली के पर्यटक से लूट और जानलेवा हमला! गंभीर हालत में हायर सेंटर रेफर

उत्तराखंड के मसूरी की शांत वादियों में भी अपराधी पहुंच गए हैं। सोमवार देर शाम दिल्ली से आए एक पर्यटक के साथ लूट और जानलेवा हमले की घटना हुई है। इस पर्यटक को गंभीर हालत में हायर सेंटर रेफर किया गया है।

पहाड़ों की रानी मसूरी में एक सनसनीखेज वारदात को अंजाम दिया गया है। दिल्ली के पर्यटक पर अज्ञात लोगों द्वारा हमला कर उससे लूट की वारदात को अंजाम देने की कोशिश की गई। बताया जा रहा है कि दिल्ली से आए 44 वर्षीय पर्यटक जॉनी पुत्र कलमकोटी मसूरी गांधी चौक से लाइब्रेरी बस स्टैंड पर घूमने के लिए निकले थे। कुछ दूर पैदल चलने के बाद सड़क पर अंधेरा होने के कारण वह वापस होटल की ओर लौटने लगे। अभी वो कुछ दूर ही चले थे कि तभी पीछे से कुछ अज्ञात लोगों ने उनको लूटने की कोशिश की। उनकी जेब में हाथ डाला। इस पर उन्होंने उनको रोका तो आरोप है कि अज्ञात लोगों ने चाकू से वार कर दिया। पहले हाथ पर वार किया फिर उनके गले पर वार किया गया। इस हमले में जॉनी गंभीर रूप से घायल हो गए। अज्ञात लोगों ने उनको सड़क किनारे खाई में फेंकने की कोशिश भी की। लेकिन तभी आगे से एक गाड़ी आ जाने के कारण वो अपने मकसद में कामयाब नहीं हो पाए और भाग खड़े हुए। जॉनी ने बताया कि कुछ स्थानीय लोगों ने उनको देखा जिसके बाद मसूरी पुलिस को सूचना दी गई। घटना की सूचना मिलते ही मसूरी पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस अपने सरकारी वाहन में घायल जॉनी को लेकर मसूरी उप जिला चिकित्सालय पहुंची।

घटना की सूचना मिलते ही मसूरी कोतवाल शंकर सिंह बिष्ट भी मौके पर पहुंचे और घटना की जांच में जुट गए। गंभीर रूप से घायल जॉनी ने बताया कि वह अपने घर से बिना बताए 2 दिन पहले मसूरी आए थे। मसूरी के गांधी चौक पर सरताज होटल में रुके हैं। उन्होंने बताया कि सोमवार की देर शाम को खाना खाने के बाद उन्होंने अपना फोन स्विच ऑफ करके होटल के कमरे में रख दिया और घूमने के लिए निकल गए। वह गांधी चौक से लाइब्रेरी बस स्टैंड से थोड़ा नीचे पहुंचे पर सड़क पर काफी अंधेरा होने के बाद वह वापस होटल लौटने लगे कि तभी पीछे से कुछ अज्ञात लोगों ने उनको पकड़ लिया। उन अज्ञात लोगों ने उनसे लूट की कोशिश की। जब उन्होंने विरोध किया तो उन लोगों ने चाकू से वार कर दिया. वो लोग घायल करके उन्हें खाई में फेंकने वाले थे। तभी एक गाड़ी आ गई। इस कारण उनकी जान बच गई। लुटेरे उनको सड़क किनारे फेंक कर भाग गए। जॉनी ने बताया कि वह दिल्ली में सीएनजी पेट्रोल पंप में मैनेजर का काम करते हैं। मसूरी घूमने के लिए आए थे।उधर इस पूरे मामले में पुलिस अभी कुछ कहने से बच रही है। मसूरी कोतवाल शंकर सिंह बिष्ट ने कहा कि पूरे मामले की जांच करने के बाद ही कुछ कहा जा सकेगा। फिलहाल घायल व्यक्ति को देहरादून हायर सेंटर रेफर कर दिया गया है। वहीं घायल व्यक्ति के परिजनों को भी सूचना दे दी गई है।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -

ताजा खबरें