Thursday, June 13, 2024
No menu items!
Homeअपराधपुजारी को मोबाइल से ऑनलाइन लेनदेन सीखना पड़ा महंगा, पर्यटक दंपती ने...

पुजारी को मोबाइल से ऑनलाइन लेनदेन सीखना पड़ा महंगा, पर्यटक दंपती ने पुजारी के खाते से उड़ाए लाखों रुपए

नौकुचियाताल। लगातार बढ़ रहीं साइबर ठगी से अब पुजारी भी नहीं बच पा रहे हैं। ऐसा ही एक साइबर ठगी का शिकार भक्तिधाम नौकुचियाताल के पुजारी हुए हुए हैं। दरअसल पिछले दिनों मंदिर दर्शन व ध्यान को भक्तिधाम नौकुचियाताल पहुंचे साइबर ठग दंपत्ति ने मंदिर के पुजारी पंडित जगदीश पांडे के खाते से 1.20 लाख रुपए की ठगी कर डाली। जिसको लेकर पुजारी ने नौकुचियाताल थाने में तहरीर देते हुए कार्रवाई की मांग की है।

जानकारी के मुताबिक पुजारी जगदीश पांडे ने नौकुचियाताल थाने में देते हुए पुलिस को बताया कि भक्तिधाम नौकुचियाताल स्थित मंदिर में दर्शन, ध्यान के लिए पर्यटकों आते रहते है। बताया कि आदिलाबाद तेलंगाना से एक दंपत्ति बीते 12 अप्रैल को यहाँ पहुंचे और 16 अप्रैल को वापस गए। दम्पत्ति ने भक्तिधाम में तेलंगाना निवासी तुम्मा विनय बाबू व पत्नी काव्या के नाम से एंट्री कराई थी। उन्होंने ध्यान किया व पूजन भजन में भाग लिया। बातचीत के दौरान दम्पत्ति ने उन्हें फोन-पे व यूएनओ इस्तेमाल की बारीकियां सिखाने की बात कही। जिस पर पुजारी जगदीश पांडे ने उन पर भरोसा कर उन्हें अपना मोबाइल दे दिया। इसी दौरान उन्होंने उनके एसबीआई के खाते से एक लाख बीस हजार रुपये की ठगी कर ली और यहां से चले गए। उनके जाने के बाद जगदीश पांडे को उनके साथ हुई धोखाधड़ी का पता चला। जिसके बाद इस सम्बन्ध में उन्होंने थाने में तहरीर देकर ठग दम्पत्ति के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -

ताजा खबरें