Wednesday, February 21, 2024
No menu items!
Homeअपराधमाँ के भतीजे से थे अवैध संबंध! नाबालिग बेटे ने किया विरोध...

माँ के भतीजे से थे अवैध संबंध! नाबालिग बेटे ने किया विरोध तो कर दी हत्या

हरिद्वार जनपद में 31 दिसंबर को हुए किशोर हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। किशोर की हत्या बड़ी ही बेरहमी से की गई थी। हत्या के आरोप में पुलिस ने उसके चचेरे भाई अमित कटारिया को गिरफ्तार किया है। अमित कटारिया के अपनी विधवा चाची यानी किशोर की मां के साथ अवैध संबंध थे। अमित कटारिया की नजर अपनी चाची की प्रॉपर्टी पर थी। इसीलिए उसने अपने भाई की हत्या की। क्योंकि किशोर चाची का इकलौता वारिस था।

हरिद्वार एसएसपी प्रमेंद्र डोभाल ने पूरे मामले की जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि ये पूरा मामला हरिद्वार के कनखल थाना क्षेत्र का है। नए साल के पहले दिन एक जनवरी सोमवार को 17 वर्षीय किशोर का शव बैरागी कैंप इलाके में गंगा किनारे मिला था। पुलिस को किशोर के सिर पर चोट के गहरे घाव मिले थे। इसीलिए पुलिस शुरू से ही इस केस को हत्या मान कर चल रही थी। पुलिस ने मौत की वजह जानने के लिए शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया था। साथ ही पुलिस ने किशोर के दोस्त से भी पूछताछ शुरू की। वहीं किशोर की मां ने पुलिस को जो तहरीर दी थी उसमें उन्होंने बताया था कि 31 दिसंबर को उनका बेटा नए साल की खरीदारी करने अपनी मां के कहने पर अमित कटारिया के साथ शाम पांच बजे के आसपास कनखल के लिए निकला था लेकिन देर रात तक घर नहीं लौटा था। पुलिस ने बताया कि देर रात को करीब एक बजे अमित कटारिया, किशोर की मां से मिलने मिसरपुर वाले घर पर आया। अमित जब घर पहुंचा तो उसके जूतों पर लाल धब्बों के निशान थे। महिला के पूछने पर अमित ने बताया कि उसके जूतों पर पान की पीक लग गई है। साथ ही बताया कि किशोर अपने दोस्तों के साथ चिलम फूंकने गया है। पुलिस ने बताया कि अमित पर किसी को शक न हो इसीलिए उसने अपने एक परिचित के साथ किशोर को ढूंढने का नाटक भी किया था। लेकिन पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में साफ हो गया था कि किशोर की हत्या बहुत ही नृशंस तरीके के की गई थी। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में किशोर के सिर पर गहरी चोट लगने और गला घोंटकर हत्या की बात सामने आई थी। पुलिस ने तमाम पहलुओं को ध्यान में रखते हुए मामले की जांच शुरू की और इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज भी खंगाली जिससे पुलिस को कुछ अहम सुराग हाथ लगे। पुलिस के शक की सारी सुई अमित कटारिया की तरफ ही घूम रही थी। तभी पुलिस ने अमित कटारिया को जगजीतपुर क्षेत्र से उस वक्त दबोच जब वो किशोर का फोन और घटना के दिन पहनी गई खून से सनी टी शर्ट को लेने के लिए जा रहा था।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -

ताजा खबरें