Wednesday, February 28, 2024
No menu items!
Homeउत्तराखंडभारी ओलावृष्टि ने किसानों की तोड़ी कमर! मेहनत पर फेरा पानी,मायूस हुए...

भारी ओलावृष्टि ने किसानों की तोड़ी कमर! मेहनत पर फेरा पानी,मायूस हुए अन्नदाता

उत्तराखंड में अब बर्फबारी का दौर शुरु हो गया है। पिथौरागढ़ में इस बर्फबारी के चलते किसानों की चिंता बढ़ गई है। सीमांत जनपद के उच्च हिमालयी क्षेत्रों में रविवार को एक बार फिर हिमपात हुआ। वहीं, जनपद के विभिन्न स्थानों पर वर्षा के साथ ओलावृष्टि हुई। ओलावृष्टि के चलते फसलों को नुकसान हुआ है।हिमपात व वर्षा के चलते निचले इलाकों में ठंड बढ़ गई है। रविवार को सुबह के समय आसमान साफ रहा। दोपहर बाद आसमान में बादलों से घिर गया। धारचूला के ज्योलिंकांग व अन्य ऊंचाई वाले स्थानों पर हिमपात हुआ। मुनस्यारी में पंचाचूली, हंसालिंग, राजरंभा की चोटियों पर हिमपात हुआ। हिमपात के चलते तापमान में गिरावट आ गई। निचले इलाकों में ठंड बढ़ गई। लोगों ने गर्म कपड़े, टोपी पहनने शुरू कर दिए हैं। वहीं, जिला मुख्यालय के आसपास व अन्य इलाकों में देर शाम भारी ओलावृष्टि हुई। जिला मुख्यालय से करीब आठ किमी दूर वड्डा, डीडीहाट, थल आदि क्षेत्रों में वर्षा के साथ भारी ओलावृष्टि हुई। ओलावृष्टि के चलते फसलों, साग-सब्जी को खासी नुकसान पहुंचा है। फसल खराब होने की वजह से ग्रामीण काश्तकारों की मेहनत पर पानी फिर गया है। जबकि अधिकांश काश्तकार साग-सब्जी बेचकर ही अपनी आजीविका चलाते हैं। काश्तकारों ने ओलावृष्टि से हुए नुकसान का मुआवजा दिए जाने की मांग की है।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -

ताजा खबरें