Sunday, April 21, 2024
No menu items!
Homeउत्तराखंडउत्तराखंड में हिंदूवादी संगठनों का प्रदर्शन! हरियाणा के नूंह हिंसा पर जताया...

उत्तराखंड में हिंदूवादी संगठनों का प्रदर्शन! हरियाणा के नूंह हिंसा पर जताया आक्रोश

हरियाणा के नूंह में भड़की हिंसा के विरोध में उत्तराखंड में भी प्रदर्शन हो रहे हैं। इसी कड़ी में हिंदूवादी संगठनों ने देहरादून, अल्मोड़ा और हल्द्वानी में प्रदर्शन कर जमकर नारेबाजी की। साथ ही पुतला दहन करते हुए आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की। उनका ये भी कहना है कि अगर उत्तराखंड में इस तरह की घटना को अंजाम देने की कोशिश की गई तो उन्हें नहीं बख्शा जाएगा। विश्व हिंदू परिषद के साप्ताहिक मिलन प्रमुख विकास वर्मा का कहना है कि विशेष समुदाय की ओर से टारगेट कर उनकी धार्मिक यात्राओं पर हमले किए जा रहे हैं। हरियाणा में हुई इस घटना के बावजूद केंद्र की सरकार मौन बैठी हुई है। उन्होंने कहा कि जब लोग शांतिपूर्ण यात्रा निकाल रहे थे तो कुछ समुदाय विशेष के लोगों ने उन पर हमला बोल दिया। जब तक आरोपियों को पकड़ा नहीं जाता है तब तक वो चुप नहीं बैठेंगे। उन्होंने चेतावनी देते कहा कि यदि जल्द ही आरोपियों को नहीं पकड़ा जाता है तो उन्हें अपना आंदोलन उग्र करने के लिए बाध्य होना पड़ेगा। हिंदू संगठनों का कहना है कि इतनी बड़ी घटना होने के बावजूद खट्टर सरकार मौन साधे हुए हैं। हिंदू के ऊपर लगातार आघात किए जा रहे। उन्होंने इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि यह घटना बेहद निंदनीय है। प्रदर्शनकारियों ने जिलाधिकारी के व्यवहार पर भी अपनी नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि हिंदू समाज की पीड़ा को जिलाधिकारी गंभीरता से नहीं ले रही है। अपनी मांग को लेकर जिलाधिकारी कार्यालय में पहुंचे हिंदू संगठनों के प्रति जिलाधिकारी का व्यवहार खेद जनक था। अल्मोड़ा में भी नूंह हिंसा की घटना के विरोध में विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने शिखर तिराहे पर आक्रोश व्यक्त किया. उन्होंने घटना की निंदा की और दोषी बताते हुए कार्रवाई करने की मांग की। साथ ही उपद्रवियों का पुतला दहन कर विरोध में नारेबाजी भी की। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर उत्तराखंड में इस तरह की कोई घटना को अंजाम देने की कोशिश करता है उन्हें किसी भी हाल में बख्शा नहीं जाएगा। हिंदू संगठनों का कहना है कि इतनी बड़ी घटना होने के बावजूद खट्टर सरकार मौन साधे हुए हैं। हिंदू के ऊपर लगातार आघात किए जा रहे। उन्होंने इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि यह घटना बेहद निंदनीय है। प्रदर्शनकारियों ने जिलाधिकारी के व्यवहार पर भी अपनी नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि हिंदू समाज की पीड़ा को जिलाधिकारी गंभीरता से नहीं ले रही है। अपनी मांग को लेकर जिलाधिकारी कार्यालय में पहुंचे हिंदू संगठनों के प्रति जिलाधिकारी का व्यवहार खेद जनक था।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -

ताजा खबरें