Sunday, April 21, 2024
No menu items!
Homeउत्तराखंडमुख्यमंत्री धामी ने की चमोली हादसे के पीड़ितों के परिजनों से मुलाकात!...

मुख्यमंत्री धामी ने की चमोली हादसे के पीड़ितों के परिजनों से मुलाकात! कांग्रेसियों ने गो बैक के नारे लगाए

उत्तराखंड सूबे के चमोली हादसे के पीड़ितों का हालचाल लेने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी गोपेश्वर पहुंच गए हैं। सीएम धामी ने करंट से झुलसे लोगों से मुलाकात की. गंभीर हालत में भर्ती लोगों के परिजनों से भी मुलाकात की। सीएम ने कहा कि घटना की गहन जांच होगी। इस दौरान कांग्रेसियों ने सीएम गो बैक के नारे भी लगाए।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी आज सुबह देहरादून से गोपेश्वर पहुंचे। जिला अस्पताल पहुंचकर सीएम धामी ने बुधवार को करंट लगने से झुलसे लोगों से मुलाक़ात की. इस दौरान वह मृतकों के परिजनों से भी मिले। सीएम धामी ने उन्हें हरसंभव मदद का भरोसा दिलाया। जिसके बाद सीएम ने घटना में मृतक होमगार्ड के 3 जवानों को पुलिस मैदान में श्रद्धांजलि दी। सीएम के साथ बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट और पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज भी मौजूद रहे। वही इस दौरान चमोली हादसे में हताहत लोगों के परिजनों से मिलकर मुख्यमंत्री काफी भावुक नजर आए। उन्होंने शोक संतप्त परिजनों को सांत्वना देते हुए हर संभव मदद का आश्वासन दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि ये बहुत हृदय विदारक घटना है। हम ईश्वर से प्रार्थना करेंगे कि इस घटना में जो हताहत हुए हैं उन्हें अपने श्री चरणों में स्थान दें और उनके परिजनों को इस दुख को सहन करने की शक्ति प्रदान करें। राज्य सरकार की तरफ से मुआवजा, इलाज आदि से संबंधित सभी व्यवस्थाएं की गई हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि दुर्घटना के कारणों की गहन जांच की जायेगी और दोषियों पर सख्त कार्रवाई की जायेगी।

उधर सीएम को दौरे के समय कांग्रेसी भी सेफ हाउस पहुंच गए। कांग्रेसियों ने सेफ हाउस से सीएम गो बैक के नारे लगाए। कांग्रेसी पीड़ित परिजनों को मुआवजे और नौकरी की मांग कर रहे थे। कांग्रेसियों की नारेबाजी के जवाब में भाजपाइयों ने भी नारेबाजी की। इसके बाद सीएम से वार्ता करने पहुंचे नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य बगैर वार्ता किए ही नाराज होकर लौट गए। इसके बाद प्रशासनिक अधिकारी यशपाल आर्य को मनाने में जुट गए। इसके बाद यशपाल आर्य मान गए। फिर नेता प्रतिपक्ष के नेतृत्व में मृतकों के परिजनों की सेफ हाउस में सीएम से वार्ता हुई। वार्ता में स्थानीय विधायक राजेंद्र भंडारी भी मौजूद रहे। आपको बात दे चमोली में बुधवार को बड़ा हादसा हुआ था. यहां नमामि गंगे प्रोजेक्ट के सीवर ट्रीटमेंट प्लांट के पास करंट फैल गया था। करंट लगने से 16 लोगों की मौत हो गई थी. उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इस हादसे पर दुख जताया था। उन्होंने जांच के आदेश दिए हैं. तत्काल प्रभाव से मृतकों के परिजनों को पांच लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषण की गई थी। जैसे ही करंट लगने से इतनी बड़ी संख्या में लोगों की मौत की खबर दिल्ली तक पहुंची, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी घटना पर दुख जताया। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को फोन करके हालात की जानकारी ली थी। चमोली में हुए दर्दनाक हादसे के बाद प्रशासन से लेकर सरकार तक हड़कंप मच गया था। स्वास्थ्य मंत्री डॉ धन सिंह रावत आनन फानन में चमोली पहुंच गए। उन्होंने मौके पर जांच और हालात दोनों पर वह जायजा लिया. मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी भी चमोली के लिए हेलीकॉप्टर से रवाना हुए थे। हालांकि खराब मौसम की वजह से उन्हें आधे रास्ते से ही लौटना पड़ा था। उसके बाद आज सुबह मौसम ठीक होने पर सीएम धामी चमोली के जिला मुख्यालय गोपेश्वर पहुंचे हैं।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -

ताजा खबरें