Monday, May 20, 2024
No menu items!
Homeअपराधधर्मनगरी में गंगा स्नान करने आए पर्यटक पी रहे थे शराब! पुलिस...

धर्मनगरी में गंगा स्नान करने आए पर्यटक पी रहे थे शराब! पुलिस ने पढ़ाया मर्यादा का पाठ

धर्मनगरी हरिद्वार का माहौल खराब करने वाले तीन पर्यटकों का पुलिस ने चालान किया। तीनों पर्यटकों पर आरोप है कि वो हरिद्वार में सड़क किनारे कार खड़ी करके शराब पी रहे थे। तीनों पर्यटक हरिद्वार में गंगा स्नान करने आए थे तीनों के खिलाफ पुलिस ने ऑपरेशन मर्यादा के तहत कार्रवाई की है।

हरिद्वार पुलिस की सख्ती के बाद भी कुछ लोग अपनी हरकतों के बाच नहीं आ रहे है और उत्तराखंड में धार्मिक स्थलों की मर्यादा को तार-तार कर रहे है। ऐसे ही एक नया मामला हरिद्वार से सामने आया है जहां कुछ पर्यटक धर्मनगरी हरिद्वार के खड़खड़ी क्षेत्र में कार में बैठकर शराब पी रहे थे। पुलिस ने हरिद्वार में कार में बैठकर शराब पीने वाले सभी लोगों के खिलाफ ऑपरेशन मर्यादा के तहत कार्रवाई की है। सभी आरोपी हरिद्वार में गंगा स्नान करने आए थे। दरअसल उत्तराखंड में धार्मिक स्थलों की मर्यादा न बिगड़े इसको लेकर उत्तराखंड पुलिस ने ऑपरेशन मर्यादा चला रखा है। ऑपरेशन मर्यादा के तहत पुलिस उन लोगों पर कार्रवाई करती है जो गंगा किनारे या फिर किसी अन्य धार्मिक स्थलों पर बैठकर शराब व अन्य मादक पदार्थों का सेवन करते है। धर्मनगरी हरिद्वार में तो मांस-मदिरा की बिक्री और सेवन दोनों पर रोक है बावजूद इसके कुछ पर्यटक यहां आकर खुले में शराब पीते है, जिनके खिलाफ पुलिस लगातार कार्रवाई कर रही है ताकि धार्मिक स्थलों की मर्यादा बनी रही है। इस मामले की जानकारी देते हुए एसपी सिटी हरिद्वार स्वतंत्र कुमार सिंह ने बताया कि खड़खड़ी चौकी प्रभारी खेमेंद्र गंगवार को सूचना मिली थी कि कुछ लोग देर रात में सड़क किनारे कार खड़ी करके दारू पी रहे है। सूचना मिलते ही चौकी प्रभारी खेमेंद्र गंगवार अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे तो देखा कि तीन व्यक्ति अपनी कार में बैठकर शराब पी रहे थे। तीन लोग शराब के नशे में धूत थे.पुलिस ने ऑपरेशन मर्यादा के तहत तीनों का पुलिस एक्ट में चालान किया। तीन पर्यटक हरियाणा के सोनीपत के रहने वाले बताए जा रहे है। हरिद्वार पुलिस अभीतक 1200 से लोगों का ऑपरेशन मर्यादा के तहत चालान काट चुकी है। एसपी सिटी हरिद्वार स्वतंत्र कुमार सिंह ने कहा कि ऑपरेशन मर्यादा का उद्देश्य हरिद्वार में आने वाले श्रद्धालुओं को एक अच्छा और धार्मिक माहौल मुहैया कराना है।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -

ताजा खबरें