Thursday, February 22, 2024
No menu items!
Homeउत्तराखंडउत्तराखंड: होमगार्ड स्थापना दिवस पर सीएम धामी ने लॉन्च किया द्रुत एप!...

उत्तराखंड: होमगार्ड स्थापना दिवस पर सीएम धामी ने लॉन्च किया द्रुत एप! गृह रक्षकों के लिए नई भर्ती समेत खोला घोषणाओं का पिटारा

होमगार्ड एवं नागरिक सुरक्षा के स्थापना दिवस पर आज देहरादून में रैतिक परेड का आयोजन किया गया। इस दौरान जहां रैतिक परेड के माध्यम से होमगार्ड ने सभी का दिल जीत लिया तो वहीं मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भी कार्यक्रम के बाद होमगार्ड के लिए कई घोषणाएं कर विभाग को प्रोत्साहित करने की कोशिश की।

देहरादून में आज रैतिक परेड के जरिए होमगार्ड ने न केवल अनुशासन का परिचय दिया बल्कि मोटरसाइकिल दल ने कई हैरतअंगेज कारनामे कर कार्यक्रम में मौजूद लोगों को हैरान कर दिया। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी समेत विभाग के तमाम बड़े अधिकारी मौजूद रहे। इस दौरान परेड का शानदार प्रदर्शन कर आपसी तालमेल और अनुशासन का परिचय भी होमगार्ड ने दिया। कार्यक्रम में होमगार्ड विभाग के द्रुत एप का विमोचन भी किया गया। जिसके माध्यम से आपदा के दौरान राहत एवं बचाव कार्य में होमगार्ड अपना महत्वपूर्ण योगदान निभा सकेंगे। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के सामने जांबाज मोटरसाइकिल दस्ते ने कई करतब कर सभी को चौंका दिया। इस दौरान मुख्यमंत्री की तरफ से प्रशंसा प्रमाण पत्र और मेडल भी विशेष कार्य करने वाले होमगार्ड्स को वितरित किए गए। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कार्यक्रम के दौरान होमगार्डों के लिए कुछ घोषणाएं भी की। आज होमगार्ड एवं नागरिक सुरक्षा का यह 76वां स्थापना दिवस था जिसमें धामी ने परेड की सलामी ली। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सिलक्यारा टनल में होमगार्ड की अहम भूमिका का जिक्र करते हुए कहा कि होमगार्ड का संदेश जहां कम वहां हम का है। इसको वह पूरी तरह से निभा भी रहे हैं. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने सेवा की तर्ज पर सीएसडी कैंटीन की सुविधा भी शुरू कर दी है जबकि अब द्रुत एप के जरिए होमगार्ड अपनी सेवाओं को और बेहतर तरह से दे सकेंगे। मुख्यमंत्री ने होमगार्ड के बैंड मस्का बाजा की भी जमकर तारीफ की। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि राज्य को अब जल्द ही 330 महिला होमगार्ड मिल सकेंगी। इसके अलावा 300 पुरुष होमगार्ड की भर्ती भी जल्द की जाएगी। प्रेम नगर में होमगार्ड के लिए फायरिंग रेंज बनाने की भी उन्होंने बात कही। इसके अलावा होमगार्ड को साल में 12 अवकाश दिए जाने की भी घोषणा की गई। इसके अलावा रेस्क्यू सेंटर के लिए भवन निर्माण की घोषणा और विभागीय मोटरसाइकिल की की घोषणा भी की गई। मुख्यमंत्री ने कहा कि एसडीआरएफ की तर्ज पर उच्च हिमालयी क्षेत्र में होमगार्ड को भी प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -

ताजा खबरें