Monday, May 20, 2024
No menu items!
Homeअपराधनैनीताल: एक महिला पत्रकार को जान से मारने की धमकी का मामला...

नैनीताल: एक महिला पत्रकार को जान से मारने की धमकी का मामला आया सामने! पुलिस ने FIR की दर्ज!

नैनीताल। नैनीताल से एक महिला पत्रकार को जान से मारने की धमकी का एक मामला सामने आया है। जहां आवाज़ 24 X7 इंडिया समाचार पत्र और न्यूज़ वर्ल्ड चैनल की एक  महिला पत्रकार को पंत पार्क के समीप अज्ञात दो लोगों ने कैंची धाम स्थित आवासीय सोसायटी की खबर हटाने के लिए बोलते हुए जान से मारने  की धमकी दे डाली और फिर महिला पत्रकार को धक्का देकर नौ दो ग्यारह हो गए। महिला पत्रकार की शिकायत पर मल्लीताल पुलिस ने एफआईआर दर्ज़ कर जांच शुरू कर दी है।

मामले के अनुसार महिला पत्रकार कंचन वर्मा 19 अगस्त को डीएसए ग्राउंड से होते हुए पंत पार्क की ओर जाते हुए खबरों के लिए फोन से तस्वीरें खींच रही थी तभी अचानक दो युवकों ने कंचन को पीछे से धक्का दिया जिससे कंचन के हाथ से मोबाइल छूट गया अचानक एक युवक ने कंचन के पास आकर कहा कि कैंची धाम वाली खबर हटा ले वरना अभी तो नोटिस दिया है नहीं तो तुझे और तेरे बच्चे को मार डालेंगे । इतने में कंचन फोन उठाकर कुछ कर पाती वो दोनों वहाँ से भाग गए काफी मशक्कत के बाद भी उन्हे पकड़ा नहीं जा सका । जिसके बाद कंचन वर्मा के आस पास काफी भीड़ इकट्ठा हो गयी और नैनीताल के कई पत्रकार कंचन वर्मा को लेकर मल्लीताल थाने पहुंचे जहां कंचन की तहरीर के आधार पर अज्ञात युवको के खिलाफ आईपीसी की धारा 506 में एफआईआर दर्ज़ का ली गयी है फिलहाल पुलिस सीसीटीवी फुटेज और स्थानियों से अज्ञात युवकों को खंगाल रही है । पुलिस को दी हुई तहरीर में कंचन वर्मा ने संदेह जताया है कि जान से मारने की धमकी दिलवाने का काम नोएडा के रहने वाले पूर्व सपा नेता राजीव चौधरी का है जिसके द्वारा कैंची धाम के पास आवासीय समिति में किए गए फर्जीवाड़े को कंचन वर्मा ने एक्सपोज़ किया था ।

बीते 17 जून को कैंची धाम के पास बने एक आवासीय परिसर में समिति के सदस्यों की एक बैठक होती है जहां राजीव चौधरी पर फ़र्जी तरीके से गुरुकृपा निवासीय कल्याण समिति से संयुक्त सचिव और अध्यक्ष को निकालने, एक ही परिसर में अवैध तरीके से गुरुदेव आवासीय कल्याण समिति को बनाने और समिति की कोषाध्यक्ष वंदना गोस्वामी के साथ मिलीभगत करके गुरुकृपा निवासीय कल्याण समिति के खाते से पैसे हड़पने के गंभीर आरोप लगाए गए थे । गुरुकृपा समिति के अध्यक्ष और सदस्यों द्वारा लगाए गए आरोपों और बयानों से संबन्धित दस्तावेजों की जांच पढ़ताल की गयी और उप निबंधक कार्यालय हल्द्वानी से दोनों समितियों के दस्तावेजों जांच करने के बाद 18 जून को विभिन्न समाचार पत्रों और वेब पोर्टल पर ख़बर को प्रकाशित कर दिया गया ।

ख़बर प्रकाशन के बाद राजीव चौधरी ने आवाज़ 24X7 इंडिया के संपादक सुनील मेहता और कंचन वर्मा  पर ख़बर हटाने के लिए तमाम दबाव डाले और जब ख़बर नहीं हटाई गयी तो राजीव चौधरी ने मानहानि का नोटिस भिजवा दिया जिस पर सुनील मेहता के द्वारा जवाब दिया जा चुका है । इधर उप निबंधक हल्द्वानी ने पहले गुरुकृपा  फ़र्जी और कपटपूर्ण तरीके से खड़ी की गयी गुरुदेव आवासीय कल्याण समिति से संबन्धित कारण बताओं नोटिस जारी कर दिया है ।

 

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -

ताजा खबरें