Thursday, February 22, 2024
No menu items!
Homeउत्तराखंडउत्तराखंड की बेटियों ने किया कमाल! एक बेटी मनीषा बनी मिजोरम राज्यपाल...

उत्तराखंड की बेटियों ने किया कमाल! एक बेटी मनीषा बनी मिजोरम राज्यपाल की एडीजी, तो दूसरी लेफ्टिनेंट बन करेगी देश सेवा

उत्तराखंड में बेटियां लगातार प्रदेश का नाम रोशन कर रही हैं। आज उत्तराखंड के लिए बड़ा दिन है। आज उत्तराखंड की दो बेटियों ने सेना में बड़ी उपलब्धि हासिल की है इन दोनों बेटियों का नाम मनीषा है देहरादून जिले के ऋषिकेश डोईवाला की रहने वाली मनीषा कार्की मिजोरम के राज्यपाल की एडीजी बनाई गई हैं।

मनीषा कार्की भारतीय वायुसेना में अधिकारी हैं। उन्हें मिजोरम के राज्यपाल डॉक्टर हरी बाबू कंभपति का एडीजी बनाया गया है। इसके साथ ही वह देश की पहली ऐसी भारतीय महिला सशस्त्र बल अधिकारी बन गई हैं जिन्हें राज्यपाल एडीसी के रूप में नियुक्त किया गया है। मनीषा कार्की देहरादून डोईवाला के नागल ज्वालापुर के निवासी हैं। डोईवाला में रह रही मनीषा की सास लीलावती कार्की ने बताया मनीषा कार्की के पति दीपक कार्की भी सेना में मेजर हैं। जिनके तैनाती आजकल गुरदासपुर में है। 2005 बैच की मनीषा कार्की वायुसेना में स्क्वाड लीडर हैं। अब मनीषा कार्की को मिजोरम के राज्यपाल का एडीसी बनाया गया है। मूल रूप से अल्मोड़ा की रहने वाली मनीषा कांडपाल भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट बन गई हैं। मनीषा कांडपाल बीएससी नर्सिंग कमांड हॉस्पिटल लखनऊ में पिछले 4 साल से सफलतापूर्वक प्रशिक्षण ले रही थीं। जिसके बाद उन्हें अब लेफ्टिनेंट रैंक के लिए कमीशन देते हुए शपथ दिलाई गई। लेफ्टिनेंट रैंक के लिए शपथ ग्रहण लेते हुए मनीषा कांडपाल का परिवार भी मौजूद रहा। इस मौके पर उत्तराखंड के तमाम लोगों ने मनीषा कांडपाल को बधाई दी. मनीषा कांडपाल अल्मोड़ा के भनोली की निवासी हैं। उन्हें सेवा का माहौल पारिवारिक रूप से मिला। उनके पिता तारा दत्त कांडपाल भारतीय सेवा से रिटायर हैं। मनीषा ने इंटरमीडिएट पास करने के बाद 2019 में मिलिट्री नर्सिंग सर्विस की परीक्षा पास की है।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -

ताजा खबरें