Wednesday, February 28, 2024
No menu items!
Homeउत्तराखंडनैनीताल : गांव-गांव पहुंच रही आशा फाउण्डेशन की मुहिम,ग्रामीण क्षेत्र में जाकर...

नैनीताल : गांव-गांव पहुंच रही आशा फाउण्डेशन की मुहिम,ग्रामीण क्षेत्र में जाकर महिलाओं को किया स्वास्थ्य के प्रति जागरूक, महिलाओं को किए रीयूजेबल पैड्स वितरित

नैनीताल ::- अशा फाउण्डेशन द्वारा लगातार महिलाओं को उनके स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने का प्रयास जारी रहता है। इस दौरान शनिवार को आशा फाउंडेशन ने भीमताल के कई गांव में जाकर स्वच्छता अभियान चलाया। आशा फाउंडेशन की अध्यक्ष आशा शर्मा का मानना है नारी स्वस्थ तो परिवार स्वस्थ व तभी एक स्वास्थ समाज की कल्पना सम्भव है। उनकी टीम पिछले 3-4 वर्षो से लगातार तत्पर है। स्तन कैंसर व सरवाईकल (बच्चेदानी के मुँह) का कैंसर जैसी भयंकर रूप लेती महामारी से बचाने के प्रयास मे लगी उनकी टीम है। उनका अथक प्रयास है कि जागरुकता घर-घर पहुंच। इसी क्रम में अध्यक्ष आशा शर्मा ने गांव गांव जाकर ये जिम्मदारी निभा रही है। साथ ही पर्यावरण को ध्यान मे रखते हुऐ व पूर्ण रूप से स्वस्थ महिला या बेटी की कल्पना के अन्तर्गत उनको Resuable Pads भी बाँटती है। इन पैड्स को 3 से 4 वर्ष तक होती है। उनका कहना है कि बाज़ार मे उपलब्ध पैड्स एक तो सामान्य महिला जो ग्रामीण क्षेत्र में है इसकी पहुँच मे नहीं है व दुसरा वो उसेक इस्तेमाल से होने वाले खतरे से भी वाकिफ नहीं है। चाहे वो शरीर के लिए हो या पर्यावरण के लिए हो।



आशा फाउंडेशन से ने रियुजेबल पैडस बना कर उनतक पहुंचा कर साथ से स्तन कैंसर व सरवाईकल कैंसर से स्वयं कैसे बचे बताकर उनको व उनके बाद उनके परिवार का पूर्ण स्वास्थ के लिए जागरूक करना उनकी प्राथमिकता है। इसमें महिलाओं को स्वयं परिक्षण व बालिकाओं को भी ख़ास ध्यान मे रखकर शनिवार को भीमताल ब्लाक के गांव ज्योलीकोट, बलुरी, गांजा, सडीयालाल की महिलाओं को प्रधानों की मदद व आशा कार्यकता व आगनवाडी कार्यकर्त्ताओं के साथ मिलकर गांव के सरकारी स्कूल में प्रधान रजनी के सहयोग से कार्यक्रम रखा गया। जहाँ स्वस्थ विभाग से डॉ.पल्लवी ने अपनी पूर्ण भागीदारी के साथ खड़ी रही। आशा फोडेशन की वरिष्ठ मेम्बर मुन्नी तिवारी व सबसे सशक्त डॉ.गितिका गंगोला ने पूर्ण सहयोग दिया।



आज लगभग 200 महिलाओं को 600 पैड्स वितरित किए गए।

इस दौरान ग्राम प्रधान रजनी रावत, शान्ति भट्ट,शशि चनियाल, हरगोविंद रावत, मंजू बोरा, प्रेमा अधिकारी,
खिलावती, रुक्साना समेत अन्य लोग मौजूद रहें।

गाँव की बुर्जुग महिलाओ को पिंक स्टोल उठाकर सम्मानित किया गया। यह कार्यक्रम भलुटा के प्राइमरी स्कूल में रखा गया था।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -

ताजा खबरें