Monday, May 20, 2024
No menu items!
Homeउत्तराखंडकोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर दून अस्पताल में हुई मॉक ड्रिल

कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर दून अस्पताल में हुई मॉक ड्रिल

प्रदेश में कोरोना के लगातार बढ़ते मरीजों ने लोगों की चिंताएं बढ़ा दी है। बीते रोज स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कोरोना से निपटने के लिए पंडित दीनदयाल उपाध्याय जिला चिकित्सालय देहरादून का निरीक्षण किया था। वहीं आज मॉक ड्रिल के दूसरे दिन स्वास्थ्य सचिव डॉ. आर राजेश कुमार ने दून मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय का बारीकी से निरीक्षण किया।

कोरोना से निपटने के लिए अस्पताल की ओर से की गई तैयारियों को लेकर स्वास्थ्य सचिव ने सबसे पहले कोविड इमरजेंसी का निरीक्षण किया। उसके बाद ऑक्सीजन प्लांट, कोरोना पॉजिटिव वार्ड block-d, आईसीयू समेत तमाम वार्डों का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि यह दूसरा मॉक ड्रिल है और इससे पूर्व 27 दिसंबर को पहला मॉक ड्रिल हुआ था। डॉ आर राजेश कुमार ने कहा कि प्रदेश में इससे पहले जिन हॉस्पिटलों में ऑक्सीजन सिलेंडर और कंसंट्रेटर आदि मौजूद है, वहां पर इससे पहले मॉक ड्रिल किया गया था। इनमें से 873 अस्पतालों में यह मॉक ड्रिल हुई थी, और इनमें 100 प्रतिशत डाटा एंट्री की गई थी। यही कारण था कि समूचे देश में उत्तराखंड टॉप फाइव पर अपनी जगह बना पाया। उन्होंने कहा कि उसी तर्ज पर इस बार भी भारत सरकार ने मॉक ड्रिल के निर्देश दिए थे। बीते रोज इसका पहला सेशन था आज मॉकड्रिल का दूसरा दिन है। वही इस दौरान उन्होंने कहा कि इसको लेकर सभी जिलों के मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को शत प्रतिशत मॉक ड्रिल सुनिश्चित किए जाने के निर्देश पहले ही दिए जा चुके थे। इसके अलावा सभी जिलों के जिला अधिकारियों के साथ भी बैठक की गई थी। उसमें डाटा एंट्री किए जाने को लेकर निर्देशित किया था और उन्हें पूर्ण विश्वास है कि सभी अस्पतालों में डाटा एंट्री की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। कोरोना के 4 गंभीर मरीजों में से एक मरीज की हालत में सुधार है। उन्होंने कहा कि यह खुशी की बात है कि जो गंभीर मरीज एडमिट हो रहे हैं, वो जल्द ठीक भी हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि किसी भी परिस्थिति का सामना करने के लिए स्वास्थ्य महकमा पूरी तरह से तैयार है।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -

ताजा खबरें