Tuesday, July 16, 2024
No menu items!
Homeउत्तराखंड'मिलकर बैठे हैं जुगनू सारे, ऐलान ये है कि...' सीएम धामी ने...

‘मिलकर बैठे हैं जुगनू सारे, ऐलान ये है कि…’ सीएम धामी ने विपक्षी दलों की बैठक पर कसा तंज!

एक तरफ पटना में विपक्षी एकता की बैठक चल रही है तो दूसरी तरफ इस बैठक को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने जोरदार हमला बोला है। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, केंद्रीय कैबिनेट मंत्री स्मृति ईरानी, बीजेपी आईटी हेड अमित मालवीय, और केंद्रीय मंत्री नित्यानंद राय ने कांग्रेस और गठबंधन को लेकर जोरदार निशाना साधा है। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इसे “गठबंधन” की बजाय “ठगबंधन” कहा है और इसे भ्रष्टाचार और परिवारवाद में डूबा हुआ बताया है। उनका दावा है कि विपक्षी दलों का एकमात्र उद्देश्य है देवतुल्य जनता को ठगना..

उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा- “मिलकर बैठे हैं, महफ़िल में जुगनू सारे , ऐलान ये है कि सूरज को हटाया जाए।” महागठबंधन में जितनी पार्टियां हैं उतने ही प्रधानमंत्री उम्मीदवार भी हैं। परिवारवाद और भ्रष्टाचार में डूबा यह ‘गठबंधन’ नहीं ‘ठगबंधन’ है जिनका एक दूसरे को बचाने के लिए देवतुल्य जनता को ठगने का प्रयास एक बार फिर विफल होगा।”

भाजपा की मंत्री स्मृति ईरानी ने भी इस बैठक पर अपनी टिप्पणी की। उन्होंने कहा कि वह खुशी महसूस कर रही है कि कांग्रेस ने स्वयं ये घोषणा की है कि वे अकेले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हरा नहीं सकते हैं और इसके लिए उन्हें दूसरों की सहायता की आवश्यकता है, यह आश्चर्यजनक है कि आज कांग्रेस पार्टी की छत्रछाया में वे सभी नेता खड़े हैं जिन्होंने आपातकाल के दौरान लोकतंत्र की हत्या होते देखी थी। उन्होंने कहा कि विपक्ष में उन्हें कोई एकता नजर नहीं आती है, इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि भाजपा नेताओं का समर्थन और जनता का समर्थन उनके साथ है और 2024 में जनता फिर से प्रधानमंत्री मोदी को ही चुनेगी।

 

इसके अलावा, केंद्रीय मंत्री नित्यानंद राय ने दिल्ली में मीडिया से बातचीत करते हुए इस बैठक को लेकर अपनी राय दी। उन्होंने कहा कि पटना की सड़कों पर अनेक दूल्हे दिखाई दे रहे हहैं और दावेदारी का मुद्दा खड़ा है। उन्होंने आगे कहा कि दूल्हा कौन है, यह तो साफ़ है कि वहां किसी एक नेता की दावेदारी नहीं है। इसके अलावा, विपक्ष एकता के मामले पर उन्होंने कहा कि विपक्ष एक साथ लड़े या न लड़े, इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा। जनता ने 2024 में पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को स्पष्ट मंदेश दिया है कि वह फिर से प्रधानमंत्री पद पर जोरदार जीत दर्ज करेंगे।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -

ताजा खबरें