Tuesday, July 16, 2024
No menu items!
Homeउत्तराखंडहल्द्वानी : आयुक्त दीपक रावत ने जनता दरबार लगाकर सुनी जनमानस...

हल्द्वानी : आयुक्त दीपक रावत ने जनता दरबार लगाकर सुनी जनमानस की समस्यायें

हल्द्वानी ::- शनिवार को आयुक्त दीपक रावत ने कैम्प कार्यालय हल्द्वानी में जनता दरबार लगाकर जनमानस की समस्यायें सुनी और अधिकांश समस्याओं का मौके पर विभाग एवं शिकायकर्ता के साथ वार्ता कर समस्याओं का समाधान किया। शनिवार को कैम्प कार्यालय में कुमाऊं मण्डल से सैकडों फरियादी कैम्प कार्यालय पहुंचे । कैम्प कार्यालय में मुख्यतयाः भूमि सम्बन्धी विवाद, पानी, सडक, विद्युत, घरेलु विवाद आदि की समस्यायें दर्ज हुई। आयुक्त रावत द्वारा मौके पर शतप्रतिशत समस्याओं का समाधान किया।

ओखलकांड ब्लाक के क्षेत्रवासियों ने आयुक्त को अवगत कराया कि देवलीधार- सुई मोटर मार्ग का फेज दकार्य पीएमजीएसवाई द्वारा किया जा रहा है। क्षेत्रवासियों द्वारा बताया गया कि मोटर मार्ग में कई खामियां है। मानकों के अनुरूप मोटर मार्ग की निर्धारित चौडाई 6 मीटर है लेकिन ठेकेदार द्वारा कई स्थानों पर सडक की चौडाई 3 मीटर की गई है तथा मोटर मार्ग पर जो कलवर्ट बने है उनकी गुणवत्ता निम्नकोटी होने के कारण क्षतिग्रस्त हो गये हैं। सडक का एलाईमेंट भी मानकों के अनुसार नही किया गया है कई स्थानों पर सडक का एलाईमेंट परिवर्तित कर दिया गया है तथा मोटर मार्ग पर बने बीम भी क्षतिग्रस्त हो चुके है। क्षेत्रवासियों ने मोटर मार्ग के जांच की मांग की जिस पर आयुक्त रावत ने चीफ अभियंता लोनिवि से जांच कर शीघ्र ही जांच आख्या प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। आयुक्त ने कहा कि जांच मे कोई भी कमी पाई जाती है तो ठेेकेदार का भुगतान नही किया जायेगा।

बृजेश खन्ना कालाढूगी रोड हल्द्वानी निवासी ने आयुक्त को अवगत कराया कि हल्द्वानी फर्नीचर मार्ट के निकट जीएसटी सुविधा केन्द्र के नीचे से सरकारी नाली बना हुआ है जिससे वर्षाकाल में पानी का निकास होता है लेकिन जीएसटी सुविधा केन्द्र द्वारा नाले पर अतिक्रमण कर दिया है इससे कालाढूगी रोड पर वर्षाकाल में जलभराव होता है जिस पर आयुक्त ने नगर आयुक्त को जांच कर आख्या शीघ्र प्रस्तुत करने के निर्देश दिये।

जनता दरबार में हल्दूचौड निवासी नीतू पाण्डे ने अन्त्योदय कार्ड बनाने की मांग की, हरजोध सिंह तिकोनियां निवासी ने सिख समाज के लोगों के लिए पूरनपुर-पीलीभीत-खटीमा से नानकमत्ता तक बस चलाने की मांग की। जनता दरबार में अधिकांश समस्यायें भूमि विवाद, घरेलू विवाद से सम्बन्धित आयी। अधिकांश समस्याओं का जनता दरबार में समाधान मौके पर किया गया।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -

ताजा खबरें