Sunday, April 21, 2024
No menu items!
Homeउत्तराखंडउत्तराखंड में बेटियों को बचाने के लिए शुरू हुई मुहिम! कन्या भ्रूण...

उत्तराखंड में बेटियों को बचाने के लिए शुरू हुई मुहिम! कन्या भ्रूण हत्या रोकने को अल्ट्रासाउंड केंद्रों की होगी निगरानी

उत्तराखंड के चंपावत में बेटियों को बचाने के लिए मुहिम चलाई जा रही है। यहां डीएम ने कहा कि अल्ट्रासाउंड केंद्रों का औचक निरीक्षण बढ़ाया जाए। बेटियों के लिंगानुपात में सुधार के लिए जन जागरूकता अभियान चलाने के भी निर्देश दिए। कलेक्ट्रेट सभागार में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ टास्क फोर्स की बैठक में बेटियों को सशक्त बनाने के लिए कौशल विकास साहसिक खेलकूद समेत अन्य गतिविधियां चलाने के निर्देश दिए।

उत्तराखंड में कन्या भ्रूण हत्या को रोकने के लिए अब सख्ती की जा रही है। चंपावत में अब डीएम ने इसके लिए निर्देश दिए हैं। डीएम नवनीत पांडे ने कन्या भ्रूण हत्या रोकने के लिए अल्ट्रासाउंड केंद्रों की निगरानी बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। अब अल्ट्रासाउंड केंद्रों पर निगरानी की जाएगी ताकि किसी भी कन्या की भ्रूण में हत्या न की जाए। बैठक में डीएम ने कहा कि अल्ट्रासाउंड केंद्रों का औचक निरीक्षण बढ़ाया जाए। बेटियों के लिंगानुपात में सुधार के लिए जन जागरूकता अभियान चलाने के भी निर्देश दिए। कलेक्ट्रेट सभागार में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ टास्क फाेर्स की बैठक में बेटियों को सशक्त बनाने के लिए कौशल विकास, साहसिक खेलकूद समेत अन्य गतिविधियां चलाने के निर्देश दिए। जिला कार्यक्रम अधिकारी राजेंद्र प्रसाद बिष्ट ने बताया कि बीते तीन वर्षों में जिले में लिंगानुपात में सुधार हुआ है। बीते वर्ष जिले में 11,436 बालकों के सापेक्ष 10,465 बालिकाएं हैं। उन्होंने पूर्व चलाई गई गतिविधियों और इस वित्तीय वर्ष में प्रस्तावित कार्यक्रमों के बारे में जानकारी दी। डीएम ने लिंगानुपात में सुधार के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में आशा व आंगनबाड़ी के माध्यम से जागरूकता कार्यक्रम चलाने के निर्देश दिए। पढ़ाई व अन्य क्षेत्रों में बेहतर कार्य करने वाली बालिकाओं को सम्मानित करने को कहा। बैठक में सीडीओ राजेंद्र सिंह रावत, सीएमओ डा. केके अग्रवाल, सीईओ आरसी पुरोहित समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

 

 

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -

ताजा खबरें