Tuesday, July 16, 2024
No menu items!
HomeUncategorizedकेंद्रीय मंत्री और संसद अजय भट्ट ने त्रिवेंद्र के 'गोडेस देशभक्त' वाले...

केंद्रीय मंत्री और संसद अजय भट्ट ने त्रिवेंद्र के ‘गोडेस देशभक्त’ वाले बयान का किया समर्थन! कांग्रेस ने की मंत्रिमंडल से हटाने की मांग

उत्तराखंड कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने केंद्रीय मंत्रिमंडल से अजय भट्ट की बर्खास्तगी की मांग उठाई है। उन्होंने एक बयान जारी कर कहा है कि जिस व्यक्ति को महात्मा गांधी और स्वाधीनता संग्राम सेनानियों का सम्मान करना नहीं आता, ऐसे व्यक्ति को मंत्रिमंडल में बने रहने का कोई अधिकार नहीं है।

पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के नाथूराम गोडसे पर बयान के बाद सूबे में सियासत जारी है। केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट ने भी त्रिवेंद्र रावत के बयान का समर्थन किया है। उन्होंने मामले पर कांग्रेस पर भी पलटवार किया है। जिस पर अब कांग्रेस ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है। कांग्रेस ने अजय भट्ट को मंत्रिमंडल से हटाने की मांग उठाई है। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा ने एक बयान जारी किया है। जिसमें उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त करार देते हैं। त्रिवेंद्र रावत ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ही नहीं, बल्कि स्वाधीनता संग्राम सेनानियों और देश की आजादी के लिए लड़कर हुए शहीद सेनानियों का अपमान भी किया है। अब केंद्र में बैठे राज्य मंत्री अजय भट्ट ने उनके बयान का समर्थन करते हैं। उनके बयान ने साबित कर दिया है कि बीजेपी के सभी नेताओं की मानसिकता एक जैसी है।

करन माहरा ने सवाल उठाया कि आखिर बीजेपी के नेता इस तरह की ओछी मानसिकता से क्या साबित करना चाहते हैं? उन्होंने कहा कि बीजेपी सत्ता के बल पर वीर सावरकर नाथूराम गोडसे को महिमामंडित करके देश का इतिहास बदलने का प्रयास कर रही है. ऐसे में यह सत्ता देश की उस आम जनता की धरोहर है जिसने देश की आजादी के लिए उस वक्त लड़ाई लड़ी थी। ऐसे में केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट को मंत्रिमंडल से हटाया जाना चाहिए।
दरअसल उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रावत ने बीती 7 जून को उत्तर प्रदेश के बलिया में बीजेपी कार्यालय में नाथूराम गोडसे पर बयान दिया था। जिसमें उन्होंने नाथूराम गोडसे को देशभक्त करार दिया था। त्रिवेंद्र रावत का कहना था कि नाथूराम गोडसे ने गांधी जी को मारा वो एक अलग मुद्दा है। जहां तक मैंने गोडसे को जाना और पढ़ा है, वो भी एक देशभक्त थे। गांधी जी की जो हत्या हुई उससे हम सहमत नहीं हैं।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -

ताजा खबरें