Monday, May 20, 2024
No menu items!
HomeUncategorizedनैनीताल : कुमाऊं विश्वविद्यालय के शोधार्थी डॉ. गौरव ततराडी...

नैनीताल : कुमाऊं विश्वविद्यालय के शोधार्थी डॉ. गौरव ततराडी का स्वीडन में शोध वैज्ञानिक के पद पर हुआ चयन

नैनीताल ::- प्रो. नंद गोपाल साहू के एक और पीएचडी शोध छात्र डॉ. गौरव ततराडी का स्वीडन में शोध वैज्ञानिक के पद पर चयन हुआ है। डॉ गौरव ने अपनी पीएचडी प्रो. नंद गोपाल साहू के सुपरविजन के अंतर्गत “सिंथेसिस एंड एप्लीकेशन ऑफ ग्राफीन बेस्ड नेनोमेटेरियल फॉर सुपरकैप्सिटर एप्लीकेशन” में Prsnsnt सेंटर, रसायन विज्ञान विभाग कुमाऊं विश्वविद्यालय में जमा की है।

बता दें कि डॉ.गौरव को स्वीडन की लूलिया टेक्नोलॉजी यूनिवर्सिटी में चयनित होने के लिए तीन स्तर के इंटरव्यू द्वारा से चयनित किया गया। डॉ.गौरव को स्वीडन में नेनोमेटेरियल, ग्राफीन, बैटरी तथा सुपरकैपेसिटर संबंधित कार्य में सोध करना है। इससे पूर्व अपनी पीएचडी अवधि में डॉ.गौरव 18 शोध पत्र विभिन्न अंतराष्ट्रीय रिसर्च जर्नल में पब्लिश करा चुके हैं तथा इन्होंने सफलतापूर्वक 6 पेटेंट भी फाइल किए हैं जिनमे से 3 पेटेंट राष्ट्रीय स्तर पर इन्हें प्राप्त हो चुके हैं तथा उन्होंने 2 पेटेंट अंतराष्ट्रीय स्तर के प्राप्त किए हैं। साथ ही डॉ.गौरव ने विगत साल 2021 में मुख्यमंत्री पुष्कर धामी से “best researcher of the year” का पुरस्कार भी पाया है ।


शोध में इस लक्ष्य को पाने के लिए संपूर्ण डॉ.गौरव ने अपनी सफलता का श्रेय ईश्वर, तथा प्रो. नंद गोपाल साहू, उनके समस्त रिसर्च समूह, अपने पिता सूबेदार दयाकिशन ततराडी, माता सावित्री देवी समस्त परिवारगण तथा अपने मित्रों को दिया है। डॉ.गौरव की इस उपलब्धि के लिए कुमाऊं विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. एनके जोशी, रजिस्ट्रार दिनेश कुमार, डीन साइंस और हेड रसायन विज्ञान विभाग प्रो.एबी मेलकानी तथा प्रो.नंद गोपाल साहू ने भी हार्दिक बधाइयां ज्ञापित की हैं।

डॉ.गौरव का कहना है कि उनकी सफलता में सबसे बड़ा योगदान प्रो.नंद गोपाल साहू तथा कोली साहू चौधरी का है उनके उत्साहवर्धन, प्रोत्साहन, प्रेरणा तथा बताया है की उनके अथक प्रयास के बिना यह असंभव होता।
डॉ.गौरव ने बताया की सफलता के नम्र स्वभाव, अथक प्रयास तथा मेहनत का होना अत्यंत आवश्यक है।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -

ताजा खबरें